हिंदी सिनेमा जगत के प्रख्यात कलाकार ओमपूरी का देहांत |

आज बॉलीवुड की महान सख्शियत ओमपूरी(66 ) का दिल का दौर पड़ने के कारण स्वर्गवास हो गया| उनका जन्म 18 अक्टूबर 1950 को हरियाणा प्रान्त के अम्बाला जिले के एक पंजाबी परिवार माँ हुआ था|उनके पिता भारतीय रेलवे और भारतीय सेना में काम करते थे। वो 66 साल के थे| उनके आकस्मिक निधन से बॉलीवुड सदमे में है।

उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 1976 में आई मराठी फिल्म घासीराम कोतवाल से की थी। उन्हें भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। पुरी पुणे के फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के छात्र थे। एक्टर ने 1973 के बैच में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से नसीरुद्दीन शाह के साथ पढ़ाई की थी। उन्होंने बहुत सी हिंदी, मराठी फिल्मो मै तो काम किया ही इसके साथ साथ उन्होंने पाकिस्तानी और इंग्लिश फिल्मो मै भी अपने अभिनय के लोहा मनवाया था| उन्होंने अमेरिकन फिल्मों में भी एपियरेंस दी है।
उन्होंने ब्रिटेन और अमेरिका में प्रोड्यूस हुई कई फिल्मों में काम किया है। विजय तंदुलकर के मराठी नाटक पर बनी फिल्म घासीराम कोतवाल के साथ पुरी ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म का निर्देशन के हरिहरन और मनी कौल ने किया था। दिलचस्प बात यह है कि फिल्म एफटीटीआई के 16 छात्रों के सहयोग से बनी थी। एक्टर ने दावा किया था कि उन्हें अपने बेहतरीन काम के लिए मूंगफली दी गई थी।
1982 में आई फिल्म अर्ध सत्य के लिए ओम पुरी को बेस्ट एक्टर का राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया था। उन्हें हिंदी सिनेमा में अपनी बेहतरीन अभिनय के चलते कई पुरुस्कारों से भी नवाजा गया है।
फिल्मों के अलावा उन्होंने कई टीवी शोज में भी काम कर चुके हैं। जिसमें 2004-20005 के बीच सोनी चैनल पर प्रसारित होने वाले शो आहट का दूसरा सीजन सीजन, भारत एक खोज, यात्रा, मिस्टर योगी, काकाजी कहिन, सी हॉक्स और अंतारल शामिल हैं।
उनके परिवार की बात करें हाल ही में उन्होंने अपनी वाइफ नंदिता पुरी से तलाक़ ली थी। नंदिता उनकी दूसरी पत्नी थीं। ओम पुरी ने पहली शादी 1991 में सीमा कपूर से की थी, सीमा एक्टर और होस्ट अन्नू कपूर की बहन हैं और वह शादी सिर्फ आठ महीने ही चल सकी थी। 1993 में वो सीमा से अलग होकर नंदिता के साथ परिणय सूत्र में बंध गये थे। नंदिता से उनका एक बेटी भी है- इशान पुरी। नंदिता से भी उन्होंने बीते साल डिवोर्स ले लिया था। गौरतलब है कि, नंदिता पुरी एक पत्रकार और लेखिका हैं। उन्होंने ओम पुरी की जीवनी भी लिखी है- ”Unlikely Hero “|

बताया जा रहा है कि पोस्टमॉर्टेम के बाद ओम पूरी के पार्थिव शरीर को 3 बजे मुंबई के कूपर हॉस्पिटल से उनके घर त्रिशूल ले जाया जाएगा और करीब 6 बजे उनकी अंतिम यात्रा शुरू होगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *